बिना पैसे लगाए लूडो खेलो और पैसे कमाओ

Spread the love

वैसे तो दोस्तों ऑनलाइन पैसे कमाने की जो बात आती है जो कि लूडो गेम खेल कर यहां पर कोई और गेम खेलकर तो वहां पर हमें पैसे लगाने ही पड़ते हैं. लेकिन आज जो मैं आपको एप्लीकेशन बताऊंगा वहां पर आपको एक भी रुपया लगाना नहीं पड़ेगा आपको बस खेलना है अगर आप जीते हो तो आपको पैसा भी मिलेगा।

देखिए आपको यहां पर अच्छा खासा बोनस मिल रहा है उसका आपको इस्तेमाल करना है और यहां पर पैसे जीतने हैं और उसे को अपने बैंक अकाउंट में निकाल लेना है.

या फिर आप दोनों सामान को ही विनिंग अमाउंट में कन्वर्ट कर सकते हैं और और ज्यादा कमाई कर सकते हैं और उसे अपने बैंक अकाउंट में निकाल सकते हैं.

लेकिन इसका पूरा प्रोसेस क्या है यह हम नीचे देखेंगे आपको बस इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना है और अगर अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना है.

Step 1:- तो सबसे पहले आपको नीचे के डाउनलोड बटन पर क्लिक करके इनकी वेबसाइट पर पहुंच जाना है जहां पर आपको एक डाउनलोड का बटन दिखेगा उसके ऊपर क्लिक करके इस एप्लीकेशन को डाउनलोड कर लेना है.

हो सकता है कि यह एप्लीकेशन थोड़ा सा ज्यादा बड़ा हो लेकिन फिर भी आपको उसे डाउनलोड कर लेना है और इंस्टॉल करके ओपन करना है.

और एक बात यहां पर आपको जो भी बोनस मिलेगा आपको आपको स्टेप बाय स्टेप मिलेगा तो यहां पर मैं आपको जो भी स्टेप बता रहा हूं उसे आपको अच्छे से फॉलो करना है 

Step २:- जब आप पहली बार इस एप्लीकेशन को ओपन करते हो तो आपके सामने कुछ इस तरह का इंटरफेस आता है जिसके अंदर आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है और OTP डालकर नंबर को वेरीफाई कर लेना है 

Step 3:- अब आपके सामने मेन इंटरफ़ेस ओपन होगा जिसके अंदर आपको सबसे ऊपर आपका मोबाइल नंबर दिखाई देगा और उसके बाजू में जो आपका प्रोफाइल का आइकॉन है उसके ऊपर आपको क्लिक करना है 

Step 5:- अब नीचे की इमेज में आपको दिखाई दे रहा होगा कि सबसे नीचे एक रेफरल कोड का box बनाया हुआ है और उसके आगे लिखा है Redeem तो.

तो वहां पर आपको जो नीचे वाला रेफरल कोड है उसे कॉपी करके डालना है तभी आपको ₹20 का रेफरल बोनस मिल जाएगा।

रेफर कोड:- 1663911291342

उसके बाद जब आप यहां पर KYC करते हो और अपना बैंक अकाउंट ऐड करते हो तो भी आपको यहां पर बोनस मिलने वाला है तो सबसे पहले जाइए रेफर कोड डालिए उसके बाद बैंक अकाउंट ऐड कीजिए और सारी केवाईसी कर लीजिए आपको यहां पर बोनस मिल जाएगा अगर नहीं मिलता तो एक बार एप्लीकेशन को क्लोज कीजिए और फिर से ओपन कीजिए आप का बोनस आपके अकाउंट में क्रेडिट कर दिया जाएगा।

Step 5:- तो आपको यहां पर लूडो गेम्स मिलते हैं जिन्हें खेलकर आप कमाई कर सकते हो तो सबसे पहले आपको लूडो गेम के ऊपर क्लिक करना है और अपोनेंट के साथ लूडो खेल कर जीतना है और आपका जो बोनस है उसे विनिंग अमाउंट में कन्वर्ट कर लेना है 

Step 5:- जैसे ही विनिंग अमाउंट के अंदर आपके ₹50 हो जाते हैं उसे आप अपने बैंक अकाउंट में निकाल सकते हो 

मेरी आप सभी से यही विनती रहेगी कि अगर आप यहां पर लूडो खेल खेलते भी हो और पूरा बोनस हार भी जाते हो तो आप इस एप्लीकेशन को जहां पर ही  अनइनस्टॉल कर दीजिए यहां पर खुद से पैसे डिपाजिट बिल्कुल भी मत कीजिए। 

निष्कर्ष

वैसे दोस्तों यह जो एप्लीकेशन है अच्छा खासा बोनस दे रही है जल्दी से जाओ लूट लो बस डिपॉजिट मत करना और जितना भी बोनस मिला है उसी से खेल कर उसी से पैसे कमाना और अपने बैंक अकाउंट में ले लेना

इसे भी पढ़िए

क्रिप्टोकरेंसी से पैसे कैसे कमाए

एक ऐसा प्लेटफार्म जो आपको ऑनलाइन बच्चो को पढ़ाने पे 50,000 देगा


Spread the love

हेलो गाइज, मै Twinkle और में इस ब्लॉग की ओनर हु, और पिछले 3 सालोसे डिजिटल मार्केटिंग, ब्लॉगिंग पर काम कर रही हु। और यहाँ पे ये भी आशा करती हु की आपको हमारे ब्लॉग का कॉन्टेंट पसंद आ रहा है।

50 thoughts on “बिना पैसे लगाए लूडो खेलो और पैसे कमाओ”

  1. HELLO TWINKLE MAM I HAVE TO SAY THAT YOUR ARTICLE AND ALSO YOUR YOUTUBE CHANNEL IS THE BEST OF THE BEST FABULOUS AND MARVELOUS I EVER SEE YOUR HARDWORK IS ALSO A VERY BIG INSPECTION TO YOUR ALL YOUTUBE FAMILY MEMBERS TO GROW UP IN THE LIFE AND ALSO YOU ARE THE BEST OF THE BEST YOUTUBER AND WONDERFUL THANKS TO MAKE A VIDEO ON THE YOUTUBE THAT IS TO HOW TO MAKE MONEY ONLINE AND ALL YOUR ALL YOUTUBE FAMILY AND BLOGGING FAMILY YOUR YOUTUBE VIDEOS ARE REALLY HELPFUL FOR YOUNGSTERS AND ALSO FOR EVERYONE . THANK YOU SO MUCH FOR YOUR LOVE AND SUPPORT AND HAPPY NAVRATRI TO YOU AND ALSO TO YOUR YOUTUBE FAMILY.

    YOUR SUBSCRIBER

    Reply
  2. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day
    Famous Temple In Madhya Pradesh
    मध्य प्रदेश का सबसे प्रसिद्ध मंदिर महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर
    मध्यप्रदेश के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में उज्जैन का महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर शामिल है और यह दर्शनीय स्थान रुद्रसागर झील के किनारे पर स्थित है। महा कालेश्वर ज्योतिर्लिंग भगवान शिव को समर्पित है। महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर उज्जैन में स्थित हैं और 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। महाकालेश्वर एकमात्र ऐसा ज्योतिर्लिंग है जिसमे शिव लिंग का मुख दक्षिण दिशा की ओर है। इस मंदिर में हर साल शिवरात्रि के पावन पर्व पर विशाल मेले का आयोजन किया जाता है और नाग पंचमी का उत्सव भी बहुत धूम-धाम से मनाया जाता है। यह मंदिर सुबह 4 बजे से रात 11 बजे तक श्रधालुओं के लिए खुला रहता है।

    Reply
  3. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day
    मध्य प्रदेश फेमस मंदिर मैहर देवी मंदिर
    सतना जिले में स्थित मैहर देवी मंदिर मध्य प्रदेश के प्रमुख दर्शनीय मंदिरों में से एक है। देवी शारदा के लिए प्रसिद्ध यह मंदिर त्रिकुट पहाड़ी के ऊपर स्थित है। मैहर देवी मंदिर में 1000 से भी अधिक सीढ़ियां है। मैहर मंदिर को माता सती के 51 शक्ति पीठों में से एक माना जाता है। माता के गले का हार गिरने से इस पवित्र स्थान का नाम मैहर रखा गया है।

    Reply
  4. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day
    मध्य प्रदेश का लोकप्रिय मंदिर बिजासन माता मंदिर सलकनपुर
    मध्य प्रदेश के सबसे लोकप्रिय मंदिरों में शामिल बिजासन माता मंदिर सलकनपुर भक्तो के बीच बहुत लौकप्रिय हैं। यह मंदिर माता दुर्गा के बिजासन रूप के लिए प्रसिद्ध है जोकि 800 फीट की उंचाई पर पहाड़ों में जाकर बसा है। सलकनपुर धाम में नवरात्री के समय बहुत भीड़ होती है जब हजारों की संख्या में श्रद्धालु माता के दर्शन करने आते है। माता के दर्शन की एक झलक के लिए भक्त नवरात्री के अवसर पर दूर-दूर से पैदल चलकर आते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें पिपरिया से सलकनपुर तक पैदल आने वाले भक्तो की लम्बी कतार लगी रहती हैं।

    Reply
  5. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का प्रमुख मंदिर चिंतामन गणेश मंदिर
    चिंतामन गणेश मंदिर मध्य प्रदेश के उज्जैन में क्षिप्रा नदी के तट पर स्थित है। यह मंदिर भगवान गणेश को समर्पित है जोकि परमार वंश के शासन के समय से पूज्यनीय है। चिंतामन गणेश मंदिर में हजारों श्रद्धालु भगवान गणेश का आशीर्वाद लेकर अपनी हर चिंता से मुक्ति पाने के लिए इस प्रसिद्ध मंदिर में आते है।

    Reply
  6. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का सबसे पवित्र मंदिर सती अनसूया मंदिर
    मध्य प्रदेश के चित्रकूट में बहुत ही शांत और पवित्र सती अनसूया मंदिर है। यह मंदिर मंदाकिनी नदी के तट पर स्थित है। इस मंदिर का सम्बन्ध रामायण से है। ऐसा माना जाता है कि भगवान राम और माता सीता ने इस जगह पर माता अनसूया की कुटिया में निवास किया था।

    Reply
  7. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का प्राचीन मंदिर भरत मिलाप मंदिर
    मध्य प्रदेश के प्राचीन और पवित्र मंदिरों में शामिल भरत मिलाप मंदिर चित्रकूट में स्थित है। यह मंदिर भगवान राम से भरत के मिलाप के लिए प्रसिद्ध हैं। जब भरत जी राम जी को अयोध्या बापस लोटाने के लिए मनाने के लिए आये थे। यह मंदिर सुबह 5 बजे से 12 बजे तक और शाम को 4 बजे से 9 बजे रात तक खुला रहता है।

    Reply
  8. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का ऐतिहासिक मंदिर लक्ष्मण मंदिर
    लक्षमण मंदिर मध्य प्रदेश के खजुराहो में स्थित है जोकि भगवान विष्णु के सम्मान में बनाया गया है। यह मंदिर मध्य प्रदेश के सबसे बड़े मंदिरों में से एक है। यह मंदिर अपनी सुन्दर वास्तुकला और लक्षमण जी के घमंडी स्वाभाव के लिए प्रसिद्ध है।

    Reply
  9. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का लोकप्रिय मंदिर बड़ा गणेश मंदिर
    मध्य प्रदेश के धार्मिक पर्यटन स्थलों में से एक उज्जैन में स्थित बड़ा गणेश मंदिर है। महाकालेश्वर मंदिर की टंकी के पास स्थित इस बड़े गणेश मंदिर में भगवान गणेश की लाल प्रतिमा है और उनके बगल में रिद्धि-सिद्धि की मूर्तियाँ स्थापित है। इस मंदिर में दुनिया भर से लोग संस्कृत और ज्योतिष सीखने के उद्देश्य से भी आते है। उज्जैन का बड़ा गणेश मंदिर सुबह 5 बजे से शाम 7 बजे तक अपने भक्तों के लिए खुला रहता है।

    Reply
  10. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का सबसे आकर्षित मंदिर अन्नपूर्णा मंदिर
    अन्नपूर्णा मंदिर मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में स्थित बहुत ही आकर्षक मंदिर है। यह मंदिर भोजन की देवी अन्नपूर्णा के लिए लोकप्रिय है। इंदौर में स्थित अन्नपूर्णा मंदिर में देवी माँ के दर्शन करने के लिए भक्तो की लंबी कतार सुबह 5 बजे से 12 बजे तक और दोपहर 2 बजे से रात 10 बजे तक लगने लगती हैं।

    Reply
  11. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश में दर्शन के लिए पुराना मंदिर चौसठ योगिनी मंदिर
    चौसठ योगिनी मंदिर मध्य प्रदेश के भेड़ाघाट में स्थित बहुत ही प्राचीन मंदिर है। चौसठ योगिनी मंदिर कलचुरी वंश के शासकों द्वारा 10 वी शताब्दी में बनबाया गया था। इस मंदिर में देवी दुर्गा के साथ 64 योगिनियाँ निवास करती है। चौसठ योगिनी मंदिर पहाड़ी की चोटी पर स्थित है जोकि ऐतिहासिक दृष्टि से भी बहुत महत्त्व रखता है

    Reply
  12. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का प्रसिद्ध मंदिर श्री पशुपतिनाथ मंदिर
    पशुपतिनाथ मंदिर मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में स्थित शिवना नदी के तट पर बसा हुआ बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है। भगवान शिव को समर्पित यह मंदिर शिव के आठ मुखो वाला एक मात्र मंदिर है। ऐसा माना जाता है की भगवान के आठ मुख उनके आठ पहलुओं को प्रकट करते है। भोलेनाथ के पशुपतिनाथ रूप के दर्शन करने से हर कष्ट दूर हो जाते है। यह मंदिर सुबह 6 बजे से रात्रि 8 बजे तक भक्तों के लिए खुला रहता है।

    Reply
  13. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का फेमस टेम्पल चतुर्भुज मंदिर
    चतुर्भुज मंदिर मध्यप्रदेश के ओरछा जिले में स्थित भगवान विष्णु को समर्पित चार भुजाओं की मूर्ति वाला प्रसिद्ध मंदिर है। चतुर्भुज मंदिर का निर्माण सन 1558 से सन 1573 में राजा मधुकर द्वारा करवाया गया था। यह मंदिर किले की संरचना में बनाया गया है जोकि पर्यटकों के लिए सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक खुला रहता है।

    Reply
  14. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश के तीर्थ मंदिर ओंकारेश्वर मंदिर ओंकारेश्वर
    ओम्कारेश्वर मंदिर भगवान शिव की प्रसिद्ध 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है जो मध्य प्रदेश के ओम्कारेश्वर में स्थित है। यह एक बहुत ही प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है जोकि नर्मदा नदी में स्थित है। पर्यटक मंदिर के साथ-साथ नर्मदा नदी की अनुपम सुन्दरता के दर्शन करने के लिए भी ओम्कारेश्वर आते है।

    Reply
  15. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का प्रमुख मंदिर लक्ष्मी नारायण मंदिर
    लक्ष्मी नारायण मंदिर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित है। लक्ष्मी नारायण मंदिर देवी लक्ष्मी के लिए समर्पित है। हरे-भरे क्षेत्र में स्थित यह मंदिर भोपाल शहर को बहुत ही आकर्षक बनाता है जोकि पर्यटकों के लिए एक आदर्श स्थान बन चुका है

    Reply
  16. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    म.प्र. के प्रसिद्ध मंदिर हरसिद्धि मंदिर
    मध्यप्रदेश के प्रमुख दर्शनीय मंदिर में शामिल हरसिद्धि मंदिर उज्जैन में स्थित है। यह एक प्रमुख तीर्थ स्थल है जो माता के 51 शक्ति पीठों में से एक है। हरसिद्धि मंदिर मराठों के शासन काल में गहरे लाल रंग की मूर्ति के निर्माण के साथ बनबाया था।

    Reply
  17. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    ऍम पी में घूमने के लिए हिस्टोरिकल टेम्पल जवारी मंदिर
    मध्य प्रदेश के खजुराहों में जवारी नामक बहुत ही अद्भुत मंदिर है। जवारी वह व्यक्ति था जो इस स्थान का स्वामी था। इस मंदिर की खूबसूरत डिज़ाइन पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती है। मंदिर में आने वाले भक्तो की संख्या बहुत अधिक होती हैं जोकि मंदिर का प्रमुख आकर्षण हैं। जवारी मंदिर सुबह 5 बजे से 12 बजे तक तथा शाम को 4 बजे से रात 9 बजे तक खुला रहता है।

    Reply
  18. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्यप्रदेश का शानदार मंदिर पार्श्वनाथ मंदिर
    मध्य प्रदेश के लोकप्रिय और प्रसिद्ध मंदिरों में से एक पार्श्वनाथ मंदिर है जोकि खजुराहों में स्थित है। यह मंदिर 10 वी शताब्दी के दौरान चंदेलों द्वारा बनबाया गया था। यह ऐतिहासिक मंदिर पार्शवनाथ को समर्पित हैं जोकि सुबह 5 बजे से 12 बजे तक और शाम 4 बजे से रात 9 बजे तक खुला रहता है।

    Reply
  19. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश में प्रसिद्ध हिन्दू मंदिर कालिका माता मंदिर
    देवी कालिका का प्रसिद्ध कालिका माता मंदिर मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में स्थित है। यह बहुत ही चमत्कारिक मंदिर है ऐसा कहा जाता है कि इस मंदिर में माता कालिका की मूर्ति के सामने खड़े होने पर शरीर में विशेष उर्जा का संचयन होता है। यह मंदिर सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक खुला रहता है।

    Reply
  20. Hello MAM HOW YOU YOU I HOPE YOUR WORKING GOOD I AM YOUR YOUTUBE SUBSCRIBE AND ALSO WATCH YOUR ALL ARTICLES IN GOOGLE YOU ARE REALLY VERY VERY HARDWORKING GIRL YOUR YOUTUBE VIDEOS AND ARTICLES ARE SO UNIQUE AND YOUR WORK IS ALSO BRILLIANT AND EXCELLENT AND ALL YOUTUBE VIDEO AND ARTICLE ARE VERY CLEAR TO UNDERSTAND THE MIAN KEY POINTS AND YOUR VIDEOS ARE VERY UNIQUE AND VERY GOOD US YOU WORK I AM YOUR SUBSCRIBE AND I LIKE YOUR ALL ARTICLES ARE YOUR ALL YOUTUBE VIDEO WITCH IS REALLY HELPFUL FOR YOUNGSTERS AND STUDENTS AND FOR EVERYONE YOUR TALENT IS GOD GIFTED TO YOU AND WISHING YOU A VERY VERY VERY HAPPY NAVRATRI TO YOU AND ALSO TO YOUR ALL FAMILY MEMBERS

    YOUR SUBSCRIBER

    Reply
  21. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश का सबसे खुबसूरत मंदिर गौरी सोमनाथ मंदिर
    गौरी सोमनाथ मंदिर मध्य प्रदेश के ओम्कारेश्वर में स्थित है। इस मंदिर की सबसे खास विशेषता इसमें स्थित भगवान शिव जी की 6 फीट लम्बी शिव लिंग है। ओम कारेश्वर आने वाले भक्त या पर्यटक गौरी सोमनाथ मंदिर के दर्शन किये बिना वापिस नही लौटते हैं। यह मंदिर भक्त जनों के लिए सुबह 5 बजे से शाम 6 बजे तक खुला रहता है।

    Reply
  22. Happy Navratri Special ………………………………………………………..3rd day

    मध्य प्रदेश के प्रमुख मंदिर काल भैरव मंदिर
    काल भैरव मंदिर मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में स्थित भगवान काल भैरव के लिए प्रसिद्ध है। काल भैरव माता काली के रक्षक है और माता काली के स्थान पर निवास करते है। काल भैरव मंदिर क्षिप्रा नदी के तट पर स्थित है जहां शराब मुख्य प्रसाद के रूप में चढ़ाई जाती है

    Reply
  23. मध्य प्रदेश पर्यटन में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन
    मध्य प्रदेश पर्यटन में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन
    मध्य प्रदेश पर्यटन में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन
    मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध व्यंजनों में मुख्यतः गेंहू, चावल, मांस और मछली से बने पकवान है। इसके साथ ही मध्यप्रदेश में दाल बाफला, बिरयानी, कबाब, कोरमा, पोहा, पिलाफ, रोगन जोश, जलेबी, भुट्टे की कीस, भोपाली गोश्त इत्यादि बहुत प्रसिद्ध व्यंजन है। पेय पदार्थों में लस्सी, बीयर, गन्ने का रस ये सभी बहुत पसंद किये जाते है।

    Reply
  24. मध्य प्रदेश टूरिज्म घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Madhya Pradesh Tourism In Hindi
    मध्य प्रदेश घूमने जाने के सबसे अच्छे समय की बात करे तो साल के किसी भी महीने में मध्य प्रदेश की यात्रा की जा सकती हैं। परन्तु अक्टूबर से मार्च के बीच का सबसे सबसे अच्छा होता है जब आप नर्म वातावरण में शांति पूर्वक यात्रा कर सकते है।

    Reply
  25. मध्य प्रदेश में कहाँ रुके
    मध्य प्रदेश में कहाँ रुके
    मध्य प्रदेश में कहाँ रुके

    मध्य प्रदेश के विभिन्न मंदिरों और यहाँ के खूबसूरत दर्शनीय स्थानों की यात्रा के उपरांत यदि आप यहाँ रुकना चाहते हैं तो हम आपको बता दे कि मध्य प्रदेश में आपको लो-बजट से लेकर हाई-बजट तक होटल और रिसोर्ट राज्य के विभिन्न शहरों में मिल जाएंगे है। आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी होटल का चयन कर सकते है।

    महाकाल धर्मशाला उज्जैन (Mahakaldharamsalaujjain)
    हैप्पी होम स्टे खजुराहो (Happy Home Stay Khajuraho)
    होटल अथर्व जंतर-मंतर (Hotel Atharvajantar-Mantar)
    होटल शांतीदूत जबलपुर बाईपास रोड (Hotel Shantidootjabalpur Bypass Road)
    शांति गेस्ट हाउस उज्जैन (Shanti Guest House Ujjain)

    Reply
  26. मध्य प्रदेश कैसे पंहुचा जाये
    मध्य प्रदेश कैसे पंहुचा जाये
    अगर आपने मध्य प्रदेश के दर्शनीय स्थनों पर जाने की योजना बनाई है तो हम आपको बता दे कि मध्य प्रदेश भारत के विभिन्न प्रदेशों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। आप हवाई जहाज, रेल और सड़क मार्ग में से किसी का भी चुनाव मध्य प्रदेश जाने के लिए कर सकते है।
    1 हवाई जहाज से मध्य प्रदेश कैसे पहुँचे –
    अगर आप हवाई जहाज से मध्य प्रदेश की यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दे कि मध्य प्रदेश के प्रमुख हवाई अड्डो कौन से है। आप अपनी सुविधानुसार किसी भी हवाई अड्डे का चुनाव कर सकते हैं।

    राजा भोज अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (भोपाल हवाई अड्डा) Raja Bhoj International Airport (Bhopal Airport)
    देवी अहिल्याबाई होल्कर एयरपोर्ट (इंदौर एयरपोर्ट) Devi Ahilyabai Holkar Airport (Indore Airport)
    राजमाता विजया राजे सिंधिया एयर टर्मिनल (ग्वालियर एयरपोर्ट) Rajmata Vijaya Raje Scindia Air Terminal (Gwalior Airport)
    डुमना एयरपोर्ट (जबलपुर एयरपोर्ट) Dumna Airport (Jabalpur Airport)
    खजुराहो एयरपोर्ट Khajuraho Airport

    Reply
  27. कैसे पहुँचे मध्य प्रदेश ट्रेन से
    कैसे पहुँचे मध्य प्रदेश ट्रेन से
    अगर आपने ट्रेन से मध्य प्रदेश जाने की योजना बनाई है तो हम आपको बता दे कि राज्य में रतलाम, इंदौर, भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर और खजुराहो सहित कुल 20 प्रमुख रेलवे जंक्शन हैं। मध्य प्रदेश जाने के लिए दिल्ली, मुंबई या बैंगलोर से सीधी ट्रेनें उपलब्ध है।

    Reply
  28. बस से मध्य प्रदेश कैसे जाये
    बस से मध्य प्रदेश कैसे जाये

    अगर आपने मध्यप्रदेश जाने के लिए सड़क मार्ग का चुनाव किया है तो हम आपको बता दे कि मध्य प्रदेश भारत के विभिन्न क्षेत्रों से सड़क मार्ग से भी अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में प्रमुख अंतरराज्यीय बस टर्मिनल मौजूद हैं।

    Reply
  29. Hi मॅम मे हर दीन माताजी से मेरे लिये एक विशेष मागता हू की मेरा गिवववे मे नंबर aai मे पीचीली गीव्वे मे भी नहीं आया था मॅम प्लीज इस गिव्ववे मे मेरा नाम लेना मॅम प्लीज मॅम मे aapse विणती करता हू मॅम प्लीज मेने बोएत कमेंट भी कीये है मॅम प्लीज देखो मॅम प्लीज प्लीज गिफ्ट मे जुना मोबाईल होगा तो प्लीज भेजणा मॅम किवकि मेरोको मोबाईल की बोअत जरुरत है मॅम मे aapse रिक्वेस्ट करता hu myam प्लिज मेरे फिलिग को समजो मॅम मे बोअत दीन से प्रयास करता आरा हू मॅम तबी मुझे सफलता नहीं मिली मॅम प्लीज मेरा कमेंट जरूर पढो मॅम
    मॅम आपको जुट लगता हो
    होगा मॅम पर आयासा कुच नहीं है मॅम sachme मॅम प्लीज प्लीज
    कुच गलत kaha honga to प्लीज माफ कर देना मॅम thanx
    Good job
    Good dey
    नवरात्री की shubkamna
    सदा खूश रेहणा मॅम thanx

    Reply
  30. Happy Navratri मां कात्यायनी
    शारदीय नवरात्र के छठे दिन करें मां कात्यायनी की पूजा,
    जोर से बोलो मां कात्यायनी की जय

    जोर से बोलो मां कात्यायनी की जय

    जोर से बोलो मां कात्यायनी की जय

    जोर से बोलो मां कात्यायनी की जय

    Reply
  31. शारदीय नवरात्रि के छठे दिन देवी दुर्गा के छठे स्वरूप मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। दरअसल, ऋषि कात्यायन के यहां जन्म लेने के कारण देवी मां को कात्यायनी के नाम से जाना जाता है।

    शारदीय नवरात्रि के छठे दिन देवी दुर्गा के छठे स्वरूप मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। दरअसल, ऋषि कात्यायन के यहां जन्म लेने के कारण देवी मां को कात्यायनी के नाम से जाना जाता है। मां दुर्गा का ये स्वरूप अत्यन्त ही दिव्य है। इनका रंग सोने के समान चमकीला है, तो इनकी चार भुजाओं में से ऊपरी बाएं हाथ में तलवार और नीचले बाएं हाथ में कमल का फूल है। जबकि इनका ऊपर वाला दायां हाथ अभय मुद्रा में है और नीचे का दायां हाथ वरदमुद्रा में है।

    Reply
  32. Navratri 2022 Day 7

    मां कालरात्रि की पूजा,

    नवरात्रि के सातवें दिन होती है मां कालरात्रि की पूजा, जानिए मंत्र और आरती

    नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि की स्वरूप की विधि-विधान से पूजा की जाती हैं। धर्म के अनुसार माता का इसी दिन नेत्र खोला जाता है। जानिए मां कालरात्रि की व्रत कथा।

    Reply
  33. मां कालरात्रि की पूजा,

    नवरात्रि के सप्तमी तिथि मां कालरात्रि की पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। मां कालरात्रि अपने भक्तों को सदैव शुभ फल प्रदान करने वाली हैं, इसलिए माता को शुभंकारी देवी भी कहा जाता है। कालरात्रि का यह स्वरूप अत्यंत विकराल और भयानक है, यह देवी दुर्गा के विनाशकारी अवतारों में से एक है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मां कालरात्रि का इसी दिन नेत्र खोला जाता है। माता शत्रुओं का विनाश करती हैं और भक्तों की रक्षा करती हैं।

    हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार माता कालरात्रि (Mata Kalaratri Vrat Katha) की उपासना करने से ब्रह्मांड की सारी सिद्धियों के दरवाजे हमेशा के लिए खुल जाते हैं। मां के एक अक्षर का मंत्र कानों में पड़ने से दुरात्मा भी मधुर वाणी बोलने वाला वक्ता बन जाता हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार जब शुंभ निशुंभ और रक्तबीज नामक दैत्यों ने अपने बल के मग्न में चूर होकर तीनों लोक में हाहाकार मचाना शुरू कर दिया और स्वर्ग लोक पर कब्जा कर लिया, तो सभी देवतागण ब्रह्मा, विष्णु और भगवान शिव के शरण में गए।

    Reply
  34. शुंभ-निशुंभ का किया वध (Maa Kaalratri vrat katha in hindi)
    भगवान शिव ने सभी देवतागण को देवी भगवती की अराधना करने के लिए कहा। भगवान शिव शंकर ने माता पार्वती से अनुरोध किया कि हे देवी तुम तुरंत उस राक्षस का संहार करके देवताओं को उनके राजभोग वापस दिलाओं। देवताओं की अराधना से प्रसन्न होकर मां भगवती ने शुंभ निशुंभ का वध करने के लिए मां कालरात्रि का रूप धारण किया। मां दुर्गा रक्तबीज का वध कर रहे थी, उस वक्त रक्तबीज के शरीर से जितना खून धरती पर गिरता था, उससे वैसे ही सैकड़ों दानव उत्पन्न हो जाते थे।

    Reply
  35. मां दुर्गा ने कालरात्रि से उन राक्षसों को खा जाने का निवेदन किया। तब मां कालिका ने रक्तबीज के रक्त को जमीन पर गिरने से पहले ही उसे अपने मुंह में लेना शुरू कर दिया।

    Reply
  36. मां कालिका रणभूमि में असुरों का गला काटते हुए गले में मुंड की माला पहनने लगी। इस तरह से रक्तबीज युद्ध में मारा गया। मां दुर्गे का यह स्वरूप कालरात्रि कहलाता है।

    Reply
  37. कालरात्रि प्रार्थना मंत्र
    एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता।
    लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्त शरीरिणी॥

    वामपादोल्लसल्लोह लताकण्टकभूषणा।
    वर्धन मूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयङ्करी॥

    कालरात्रि स्तुति मंत्र

    Reply
  38. या देवी सर्वभू‍तेषु माँ कालरात्रि रूपेण संस्थिता।
    नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥

    Reply
  39. कालरात्रि ध्यान मंत्र
    करालवन्दना घोरां मुक्तकेशी चतुर्भुजाम्।
    कालरात्रिम् करालिंका दिव्याम् विद्युतमाला विभूषिताम्॥

    दिव्यम् लौहवज्र खड्ग वामोघोर्ध्व कराम्बुजाम्।
    अभयम् वरदाम् चैव दक्षिणोध्वाघः पार्णिकाम् मम्॥

    महामेघ प्रभाम् श्यामाम् तक्षा चैव गर्दभारूढ़ा।
    घोरदंश कारालास्यां पीनोन्नत पयोधराम्॥

    सुख पप्रसन्न वदना स्मेरान्न सरोरूहाम्।
    एवम् सचियन्तयेत् कालरात्रिम् सर्वकाम् समृध्दिदाम्॥

    Reply
  40. कालरात्रि स्तोत्र पाठ
    हीं कालरात्रि श्रीं कराली च क्लीं कल्याणी कलावती।
    कालमाता कलिदर्पध्नी कमदीश कुपान्विता॥

    कामबीजजपान्दा कमबीजस्वरूपिणी।
    कुमतिघ्नी कुलीनर्तिनाशिनी कुल कामिनी॥

    क्लीं ह्रीं श्रीं मन्त्र्वर्णेन कालकण्टकघातिनी।
    कृपामयी कृपाधारा कृपापारा कृपागमा॥

    Reply
  41. कालरात्रि कवच
    ॐ क्लींमें हदयंपातुपादौश्रींकालरात्रि।
    ललाटेसततंपातुदुष्टग्रहनिवारिणी॥

    रसनांपातुकौमारी भैरवी चक्षुणोर्मम
    कहौपृष्ठेमहेशानीकर्णोशंकरभामिनी।

    वाजतानितुस्थानाभियानिचकवचेनहि।
    तानिसर्वाणिमें देवी सततंपातुस्तम्भिनी॥

    Reply
  42. कालरात्रि आरती
    कालरात्रि जय-जय महाकाली। काल के मुंह से बचानेवाली ।।
    दुष्ट संघारक नाम तुम्हारा। महाचंडी तेरा अवतारा ।।
    पृथ्वी और आकाश पे सारा। महाकाली है तेरा पसारा ।।
    खड्ग खप्पर रखनेवाली। दुष्टों का लहू चखनेवाली ।।
    कलकत्ता स्थान तुम्हारा। सब जगह देखूं तेरा नजारा ।।
    सभी देवता सब नर-नारी। गावें स्तुति सभी तुम्हारी ।।
    रक्तदंता और अन्नपूर्णा। कृपा करे तो कोई भी दुख ना ।।
    ना कोई चिंता रहे बीमारी। ना कोई गम ना संकट भारी ।।
    उस पर कभी कष्ट ना आवे। महाकाली मां जिसे बचावे ।।
    तू भी भक्त प्रेम से कह। कालरात्रि मां तेरी जय ।।

    Reply
  43. बिना पैसे लगाए लूडो खेलो और पैसे कमाओ
    जल्दी करो

    Reply
  44. रुकावटें आती है सफलता की राहों में
    ये कौन नहीं जानता
    फिर भी वह मंज़िल पा ही लेता है
    जो हार नहीं मानता

    Reply

Leave a Comment